बुधवार, 7 अप्रैल 2010

आक़  थू है उन हत्यारों पर............!

7 टिप्‍पणियां:

  1. थू नही गोली मार देनी चाहिये हत्यारों को।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सादर वन्दे!
    इन हत्यारों पर तो हम थूक दे लेकिन उन हत्यारों का क्या करें जिन्होंने सफ़ेद कपडे पहनकर इनको पाला है, पहले तो इन असली हत्यारों से ही निपटाना होगा क्योंकि असली खिलाडी तो यही हैं, वो हत्यारे तो इनके इशारे पर चलने वाले मोहरें हैं.
    रत्नेश त्रिपाठी

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये तो मात्र साधन हैं राजनीति के खिलाड़ियों के ..... उन पर कौन थूकेगा ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. थू तो इन हमारे नपुन्शको पर करिए !

    उत्तर देंहटाएं
  5. थू के हकदार सबसे जयादा तो वो हैं जो हत्यारों के दानवाधिकारों की वात करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं

लिखिए अपनी भाषा में

Google+ Followers