गुरुवार, 23 दिसंबर 2010

सब कुछ तो है.....(कुंवर जी)

सब कुछ तो है,
थोड़ी सी खुशिया,थोडा सुकून;
और थोडा सा चैन ही तो नहीं है!
और हाँ आस भी तो है!

सब कुछ तो है,
छोटी सी ज़िन्दगी,पाषाण सा तन,
और ये शिला सा स्थिर मन सब यही है!
और हाँ रुकी-रुकी सी सांस भी तो है!
देखा;सब कुछ तो है,





जय हिन्द,जय श्रीराम,
कुंवर जी,

16 टिप्‍पणियां:

  1. sameer ji raam raam!
    aapka swaagat hai ji....padhaarne ke liye aabhaar...

    kunwar ji,

    उत्तर देंहटाएं
  2. mai sochatee thee sukun aur chain paryayvachee hai......
    acchee abhivykti.......

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुकून और चैन ..पर्यायवाची ही हैं अपनत्व जी ,

    अच्छी अभिव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  4. भाई कुंवर जी राम राम
    घणेए दिना पाच्छै आए।
    सुंदर कविता के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं
  5. छोटी सी ज़िन्दगी,पाषाण सा तन,
    और ये शिला सा स्थिर मन सब यही है!

    बहुत बढ़िया!
    सुंदर अभिव्यक्ति के लिए आभार!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. ऐसा कमाल का लिखा है आपने कि पढ़ते समय एक बार भी ले बाधित नहीं हुआ और भाव तो सीधे मन तक पहुँच गए..

    उत्तर देंहटाएं
  7. @संजय भास्कर जी-आपका आगमन मन को दोगुने जोश से भर देता है....ऐसे ही मुस्कुताते रहिएगा....

    @चौरसिया जी-आपका स्वागत है जी.धन्यवाद!

    @zeal जी-पंक्तिया आपको सुन्दर लगी ये मेरा सौभाग्य है जी!

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  8. @अमित भाई साहब-स्वागत है जी!

    @ललित जी- राम राम जी रामराम!घणे दिन पाच्छै ही सही,आ तो गए...अर ना आवै तो.....मतलब थार प्यार ना होवे तो शायद ना ही आया ज्या था!

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  9. @अपनत्व जी,@संगीता जी-आपका स्वागत है जी,आप दप बिलकुल सही कह रागे हो जी,बस मुझे ही ख्याल नहीं रहा था,क्या करे जो "ये" पास ना हो तो सही ख्याल आते ही नहीं!

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  10. ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. साथ ही धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.
    इस ब्लॉग पर आने से हिंदुत्व का विरोध करने वाले कट्टर मुसलमान और धर्मनिरपेक्ष { कायर} हिन्दू भी परहेज करे.
    समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    .
    जानिए क्या है धर्मनिरपेक्षता
    हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

    उत्तर देंहटाएं
  11. ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. साथ ही धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.
    इस ब्लॉग पर आने से हिंदुत्व का विरोध करने वाले कट्टर मुसलमान और धर्मनिरपेक्ष { कायर} हिन्दू भी परहेज करे.
    समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    .
    जानिए क्या है धर्मनिरपेक्षता
    हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

    उत्तर देंहटाएं

लिखिए अपनी भाषा में

Google+ Followers