रविवार, 25 सितंबर 2011

माँ जो होती एक बहन मेरी भी..... (कुँवर जी)

राखी के दिन
अपनी सूनी कलाई देख
लड़का आँखों में अपना सब दर्द समेट
 रो ही तो पड़ा था....

माँ जो होती एक बहन मेरी भी..... 

जय हिन्द,जय श्रीराम,
कुँवर जी,

लिखिए अपनी भाषा में

Google+ Followers